Saturday, January 23, 2021
Home Blog डिटर्जेंट पाउडर बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें? | How to start...

डिटर्जेंट पाउडर बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें? | How to start Detergent Powder Making Business Ideas in Hindi

How to start Detergent Powder Making Business in Hindi  डिटर्जेंट पाउडर बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?  

Detergent Powder एक ऐसी वस्तु है जिसका उपयोग हर घर में होता है| कोई भी आदमी चाहे अमीर हो या गरीब, सभी तरह के लोग कपडा साफ करने के लिए Detergent Powder का उपयोग करते है| यह हमारे लिए आवश्यकता की श्रेणी में आता है| सभी लोग अपने हैसीयत के हिसाब से, अपने बजट के हिसाब से इसका चुनाव करते हैं| मार्केट में बहुत सारे ब्रांडेड और नॉन ब्रांडेड डिटर्जेंट पाउडर मौजूद हैं| ब्रांडेड Detergent Powder की कीमत नॉन ब्रांडेड Detergent Powder की तुलना में ज्यादा होता हैं| बड़े शहरो में ब्रांडेड Detergent Powder और छोटे शहरो में या देहाती क्षेत्रो में नॉन ब्रांडेड डिटर्जेंट पाउडर की मांग ज्यादा होती है क्योंकि ये सस्ते में मिल जाता है| तो अगर आप छोटे शहर से भी Detergent Powder Making Business शुरू करते है तो अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं|

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए रॉ मैटेरियल्स (Raw Materials For Detergent Powder)

  • सोडा ऐश (Soda Ash)
  • नमक (Salt)
  • डोलोमाइट (Dolomite)
  • सोडियम मेटा स्लीकेट (Sodium Meta Slicate)
  • पॉलीमर (Polymer)
  • एसिड स्लरी (Acid Slurry)
  • सी बी एस- एक्स (CBS-X)
  • ए ओ एस (AOS)
  • ऑप्टिकल ब्राइटनर (Optical Brightener)
  • ब्लीच (Bleach)
  • कलर ग्रानुअल्स (Color Granuals)
  • परफ्यूम (Perfume)

आप सारा रॉ मटेरियल्स अपने नजदीकी सप्लायर से  खरीद सकते हैं या इंडियामार्ट वेबसाइट पर जाकर थोक में खरीद सकते हैं| ज्यादा जानकारी के लिए ब्लॉग के अंत में विडियो को देखें|

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए आवश्यक मशीन (Machinery For Detergent Powder)

रिबन मिक्सचर मशीन- यह मशीन सभी रॉ मटेरियल्स को अच्छी तरह से मिलाने का काम करता है|

कोन्वेयेर– यह मशीन मिक्स रॉ मटेरियल्स को केजमिल मशीन तक ले जाने का काम करता है|

केजमिल– इस मशीन से डिटर्जेंट पाउडर का प्रोडक्शन होता है|

वजन करने वाला मशीन- इस मशीन के द्वारा डिटर्जेंट पाउडर का वजन (1/2  किलोग्राम, 1 किलोग्राम) कर पाउच में डाला जाता है|

बैंड सीलर मशीन- इस मशीन से पाउच को पैक किया जाता है|

बैच कोडिंग मशीन- इस मशीन का इस्तेमाल MRP, Expiry Date, MFG Date प्रिंट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है|

बैग क्लोज़र मशीन- इस मशीन का इस्तेमाल बैग (जिसमे बहुत सारे पाउच को डालकर आप व्होलेसलेर या रिटेलर को भेजते हैं) को सील करने में किया जाता है|

इसके अलावे केमिकल को मिलाने के लिए ड्रम या कुछ बर्तन की जरुरत पड़ेगी|

मशीन कहाँ से ख़रीदे? (Where  to buy machine for Detergent Powder)

डिटर्जेंट पाउडर बनाने में जितनी भी मशीन इस्तेमाल होती है वह आप मशीन मैन्युफैक्चरर से खरीद सकते है या इंडियामार्ट वेबसाइट पर जाकर मशीन बनाने वाले से संपर्क कर मशीन खरीद सकते है| इसके अलावे आप अपने लोकल मार्किट में भी संपर्क कर सकते हैं|

इस बिज़नेस के लिए कितनी जगह चाहिए? (Land Requires For Detergent Powder Making Business)

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए 1000 स्क्वायर फीट जगह की जरुरत होती है| जिसमे आप मशीन के अलावे रॉ मटेरियल्स एवं तैयार माल को रख सकें|

कितना लागत लगेगा? (Investment for Detergent Powder making business)

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए लगभग 5 लाख रुपए की जरुरत होती है| इस पुरे लागत को हम चार पार्ट में बांट सकते है-

मशीन खरीदने में लगने वाला लागत- इसमें इस्तेमाल होने वाली सारी मशीन लगभग 2 लाख 10 हज़ार में मिल जाती है| इस मशीन में maintenance cost लगभग नहीं के बराबर होता है| डिटर्जेंट पाउडर बनाने की प्रकिया में धुल ज्यादा उड़ता है तो आप तीन चार महीने में क्लीनिंग कर दे और जितनी भी बेअरिंग इस्तेमाल होती है उसमे ग्रीसिंग करते रहे| अगर आप 50 किलोग्राम की मशीन लगाते हैं तो 3 HP का मोटर इस्तेमाल होता है जिसे आप अपने घर में इस्तेमाल होने  वाले बिजली से चला सकते हैं| यानि आप ये बिज़नेस अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं| 

पैकेजिंग में लगने वाला लागत- डिटर्जेंट पाउडर को पैक करने के लिए पाउच बनवाना एवं पाउच पर ब्रांड नाम प्रिंट करना| इसमें करीब करीब 1 लाख का खर्च आएगा|

रॉ मैटेरियल्स का लागत- इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए कम से कम 1 लाख रुपए का रॉ मटेरियल्स खरीदना पड़ेगा| 1 लाख के रॉ मटेरियल्स में  करीब-करीब 4 हज़ार किलो डिटर्जेंट पाउडर तैयार होगा|

वर्किंग कैपिटल में लगने वाली लागत- 1 लाख रुपए का खर्च फैक्ट्री बनाने में, ट्रेड मार्क एवं अन्य खर्च मान कर चल सकते हैं|

इस बिज़नेस में लगने वाला लागत आप किस लेवल पर ये बिज़नेस करना चाहते है उसके हिसाब से घट या बढ़ सकता है|

डिटर्जेंट पाउडर बनाने की प्रक्रिया (Detergent Powder Making Process)

सबसे पहले CBS-X को पानी में अच्छी तरह से घोल लेते हैं उसके बाद इसको एसिड स्लरी में डाल कर एक बड़े डंडे की मदद से अच्छी तरह से मिला लेते हैं| पहले इसका कलर डार्क ब्राउन  होता है| इसको मिलाने के बाद इसका कलर वायलेट कलर का हो जाता है|

इसके बाद इसमें Soda Ash, Polymer, Salt, Dolomite, Sodium Meta Slicate को रिबन मिक्सचर मशीन में डालकर अच्छी तरह से मिलाया जाता है|

इसके बाद इस मिक्सचर में AOS डालकर अच्छी तरह से मिक्स करते हैं|

इसके बाद इस मिक्सचर में CBS-X एवं Acid Slurry का घोल डालकर अच्छी तरह से मिलाते हैं| इस घोल को डालने के बाद केमिकल रिएक्शन होता है जो धुएं के रूप में दिखता है|

इसके बाद इस मिक्सचर में ब्लीच मिलाते हैं| ब्लीच डालने के बाद इसमें परफ्यूम मिलाकर अच्छी तरह से मिला लेते हैं|

इन सभी को अच्छी तरह से मिलाने के बाद कोन्वेयेर के द्वारा इसे केजमिल में ले जाया जाता है| केजमिल से डिटर्जेंट पाउडर तैयार होकर निकलता है|

डिटर्जेंट पाउडर की पैकेजिंग (Detergent Powder Packaging)

डिटर्जेंट पाउडर को वजन करने वाली मशीन से वजन कर पाउच में डाल कर पैकिंग मशीन की सहायता से पैक कर लिया जाता है| पैकेजिंग के लिए आपको अपना ब्रांड नाम लेना पड़ेगा जिसे आप पाउच पर प्रिंट करा के इस्तेमाल कर सकते हैं|

डिटर्जेंट पाउडर बिज़नेस में कितना लाभ होगा? (Profit in Detergent Powder Business)

इस बिज़नेस में 15 से 20% का शुद्ध मुनाफा होता है| इसमें होने वाला लाभ आप किस स्तर पर बिज़नेस कर रहे है, एवं आपकी मार्केटिंग स्ट्रेटेजी पर निर्भर करता है| अगर आप महीने में 25 टन भी बेच लेते हैं तो 1.25 लाख रुपए महीना कमा सकते हैं| कुल मिलाकर कम लागत में इस बिज़नेस की शुरआत कर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं|

डिटर्जेंट पाउडर मार्केटिंग (Marketing for Detergent Powder Business)

इसकी मार्केटिंग के लिए आप अपने आस पास के 20-25 किलोमीटर के एरिया में अपने प्रोडक्ट को व्होलेसलेर एवं रिटेलर को बेचें| शुरुआत में कुछ ऑफर भी दे सकते हैं| Advertisement के लिए आप पम्पलेट छपवाकर बांट सकते हैं|

डिटर्जेंट पाउडर बिज़नेस के लिए जरुरी लाइसेंस (License For Detergent Powder Business)

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए कंपनी रजिस्ट्रेशन, ब्रांड रजिस्ट्रेशन, ट्रेड मार्क रजिस्ट्रेशन, GST नंबर, करंट बैंक अकाउंट की जरुरत होती है| इसके अलावे पोल्यूशन कण्ट्रोल बोर्ड से भी लाइसेंस की जरुरत पड़ती है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments