Saturday, January 23, 2021
Home Blog चप्पल बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Slipper...

चप्पल बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Slipper Making Business Ideas in Hindi

Slipper Making Business in Hindi चप्पल बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें |

Slipper एक ऐसी चीज है जो हर घर में इस्तेमाल होता है| भारत में, Slipper यानि चप्पल को हवाई चप्पल भी कहा जाता है| हवाई चप्पल काफी हल्का होता हैं जो बच्चे, बूढ़े और युवा सभी के द्वारा उपयोग किया जाता है चाहे वे किसी भी उम्र के हो|Slipper Making Business को कम पूँजी में भी शुरू किआ जा सकता है|

आजकल technology में advancement की वजह से फैंसी चप्पलों का निर्माण भी किया जा रहा है| बाजार में Slippers की अनेको varieties उपलव्ध है|

चप्पल बनाने की प्रक्रिया बहुत सरल है| छोटे पैमाने पर भी Slipper making business को शुरू कर आप चप्पल का production कर सकते हैं। आप कुछ साधारण मशीनरी और रबड़ शीट के साथ मुख्य कच्चा माल के रूप में निर्माण शुरू कर सकते हैं।

चप्पल बनाने के व्यवसाय के लिए मार्केट सर्वे (Market Survey for Slipper Making Business)

आप सबसे पहले मार्केट सर्वे करें| मार्केट सर्वे करना किसी भी बिजनेस के लिए जरूरी होता है| बिना इसके कोई भी बिजनेस शुरु नहीं करना चाहिए इससे हमें यह पता चलता है कि हम जिन चीजों का प्रोडक्शन करने जा रहे हैं उसकी मार्केट में कितनी डिमांड है| Ladies लोग डिजाइनर Slipper ज्यादा पसंद करते हैं तो मार्केट के हिसाब से आप डिजाइनर बनाएं अगर आपके मार्केट में प्लेन ज्यादा चलता है तो प्लेन ही बनाएं|

अगर बच्चों के लिए आप Slipper बनाने की सोच रहे हैं तो 50 – 50 का ratio रखें 50% सादा बनाएं एवं 50% में कार्टून का इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे बच्चे ज्यादा आकर्षित होते हैं बच्चे में जो लोकप्रिय कार्टून होते हैं जैसे डोरेमोन, मिकी माउस, एंग्री बर्ड इन सब का इस्तेमाल कर सकते हैं|

लेडीज के लिए Slipper बनाने में यह ध्यान रखें कि लेडीज को कौन सा कलर ज्यादा पसंद होता है आमतौर पर लेडीज लोगों को पिंक कलर ज्यादा पसंद होता है ब्लू कलर ज्यादा पसंद होता है इसलिए स्लीपर बनाने वक्त यह ध्यान रखें| वैसे तो सारे कलर चलते है लेकिन कलर के हिसाब से आप रबड़ शीट लाएंगे तो हमेशा फायदे में रहेंगे|

सबसे अच्छा तरीका है कि आप मार्केट में जाएं वहां पर देखें कि shop में gents के लिए किस कलर की चप्पल, ladies के लिए किस कलर एवं डिजाइन, बच्चों के लिए किस कलर और डिजाइन के Slipper मार्केट में ज्यादा चल रही है यकीन मानिए आपकी आधी से ज्यादा problem वहां पर दूर हो जाएगी और आप यह decide कर पाएंगे कि आपको किस तरह की Slipper का कितना production करना है|

आप की मार्केटिंग एवं मार्केटिंग स्ट्रेटेजी का ही अहम् रोल होगा की Slipper को कैसे बेचना है|

चप्पल बनाने के लिए मशीनरी और रॉ मैटेरियल्स (Machinery and Raw Materials for Slipper Making)

चप्पल बनाने के लिए 4 तरह की मशीन का इस्तेमाल होता है:-

  1. सोल कटिंग मशीन (Sole Cutting Machine)
  2. ग्राइंडिंग मशीन (Grinding Machine)
  3. ड्रिल मशीन (Hole Machine)
  4.  स्ट्रिप मशीन (Strip Machine)

इसमें रॉ मैटेरियल्स के रूप में रबड़ शीट की जरूरत पड़ती है यह शीट मार्केट में 200 से 2000 रुपए तक मिल जाती है यह शीट मार्केट से ले सकते हैं या आप इंडियामार्ट पर सर्च कर सकते हैं| इसके अलावे स्ट्रिप की जरूरत पड़ती है वह भी मार्केट में आसानी से उपलव्ध होती है|

इस बिज़नस के लिए जो मशीन उपलव्ध होती है इसकी कीमत मार्केट में 95,000 से 1,40,000 रुपए तक होती है मशीन की कीमत इसकी quality और production capacity पर निर्भर करती है अगर आप कम बजट में मशीन लेना चाहते हैं तो इसमें प्रोडक्शन थोड़ा कम होता है| इस मशीन के साथ 2 नंबर से लेकर 10 नंबर तक का डाइ फ्री में दिया जाता है|

इसके अलावा अगर आपको और भी डाई की जरूरत पड़ती है तो आप manufacturers से 150 से 200 रुपए ज्यादा देकर डाई ले सकते हैं| पहले आपको decide करना होगा कि आप किस-किस साइज का चप्पल बनाना चाहते हैं उसी हिसाब से डाई बनवाकर ले सकते हैं|

आप यह ध्यान रखें कि gents और ladies दोनों चप्पलों का प्रोडक्शन करें| आप मार्केट में डिमांड को देखते हुए decision ले| अगर बच्चों के लिए स्लीपर बनाना चाहते हैं तो वह भी बना सकते हैं|

चप्पल बनाने की विधि (Manufacturing Process of Slipper)

सबसे पहले Sole Cutting Machine से रबड़ शीट पर कटिंग करते हैं एक बार डाई को आगे की तरफ से और दूसरी बार डाई को पीछे की तरफ से रखकर शीट को काटा जाता है इससे एक pair तैयार हो जाता है|

दूसरा तरीका यह भी होता है कि आप एक बार पूरी row को डाई से आगे की तरफ से काटें उसके बाद पूरी row को डाई से पीछे की तरफ काटें इस तरह से आपका पूरा pair तैयार हो जाएगा तो आप अपने convenient के हिसाब से काम करें जो आपको आसान लगे उस हिसाब से कटिंग करें|

कटिंग करने के बाद उसे सही shape में लाने के लिए Grinding Machine का यूज़ होता है| Grinding Machine से shape को अच्छी तरह से बना लिया जाता है|

उसके बाद उसमे hole (छेद )किया जाता है जिस समय आप सोल कटिंग करते हैं उसी समय hole का निशान बन जाता है फिर उसी जगह पर hole कर दिया जाता हैं| Hole करने के लिए Drill Machine का use करते हैं|

Hole करने के बाद strip (स्ट्रिप) उसमें डालते हैं इसके लिए Strip Machine का use करते हैं|
अगर आप Slipper के ऊपर डिजाइन प्रिंट करना चाहते हैं तो स्ट्रिपिंग से पहले आपको डिजाइन प्रिंट करना पड़ेगा| स्ट्रिपिंग करने के बाद Slipper तैयार हो जाएगा|

मार्केट में सप्लाई करने के लिए Slipper को पन्नी में पैक कर सप्लाई कर सकते हैं|

चप्पल बनाने का  व्यवसाय  | How to Start Slipper Making Business

चप्पल बनाने के व्यवसाय में ब्रांडिंग (Branding for Slipper Making Business)

इस बिज़नेस में आप ब्रांड या बिना ब्रांड दोनों तरह से Slipper बनाकर बेच  सकते हैं अगर ब्रांड के साथ सेल करना चाहते हैं तो आपको ब्रांड रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा| वैसे तो हमारी सलाह यही है कि शुरुआत में आप अपने प्रोडक्ट को बिना ब्रांड के बेचे और जब आपको लगे कि प्रोडक्ट की सेल अच्छी हो रही है तो आप ब्रांड के साथ बेच सकते है|

चप्पल बनाने के व्यवसाय के लिए मार्केटिंग (Marketing for Slipper Making Business)

किसी भी बिजनेस के लिए मार्केटिंग का अहम् रोल होता है| मार्केटिंग के लिए पहले आप खुद घूम सकते हैं या अपने बजट के अनुसार किसी मार्केटिंग person को hire कर सकते हैं जो मार्केट से आपको ऑर्डर लाकर देगा

आप इस बिजनेस की मार्केटिंग के लिए होलसेलर से संपर्क कर सकते है| शुरु शुरु में प्रोडक्शन कम रखेंगे तो आप रिटेलर से भी shop to shop संपर्क कर सकते हैं| जैसे – जैसे प्रोडक्ट की सेल बढेगी आप प्रोडक्शन बढ़ाते जाएं|

चूँकि यह घर की जरूरत है तो इसकी डिमांड भी हर जगह होती है चाहे वह ग्रामीण क्षेत्र हो या शहरी| हां आपको अपने मार्केट के हिसाब से स्लीपर बनाने होंगे|

चप्पल बनाने के व्यवसाय के लिए जरूरी लाइसेंस (License for Slipper Making Business)

इस बिजनेस के लिए आपको कंपनी रजिस्ट्रेशन, जीएसटी नंबर की जरूरत होगी MSME में registered करवाएं| अगर आप अपने ब्रांड के साथ शुरु करना चाहते हैं तो ब्रांड रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा वैसे आप शुरू में बिना ब्रांड रजिस्टर करवाएं भी बिज़नेस शुरू कर सकते है|

चप्पल बनाने के व्यवसाय में होने वाला लाभ (Profit in Slipper Making Business)

एक रबड़ शीट में 17.5 pair Slipper बनता है मतलब 17 Slipper और दुसरे pair का एक| एक रबड़ शीट की कीमत 200 से 2000 रुपए तक होता है तो आप जैसी quality का बनाएंगे profit उसी पर निर्भर करता है वैसे आप average quality का शीट भी लेते हैं तो एक pair का cost 40 से 50 रुपए आता है तो आप उसे मार्केट में 60 रुपए  में बेच सकते हैं  होलसेलर 70 रुपए में बेचता है और रिटेलर 100 रुपए में बेचता है|

1 घंटे में 80 pair slipper का प्रोडक्शन होता है उस हिसाब से 1 घंटे में 800 रुपए कमा सकते हैं इसी तरह से अगर आप दिन के 10 घंटे काम करते हैं तो 1 दिन में 8000 रुपए कमा सकते हैं|

40 से 50 रुपए का जो production cost आता है उसमे लेबर चार्ज + बिजली और रॉ मटेरियल का cost भी शामिल है|

इस तरह से आप इस बिजनेस को शुरू करके अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं इस ब्लॉग में जो भी मुनाफा बताया गया है वह सिर्फ एक approx estimation है|

आप का मुनाफा आपके रॉ मैटेरियल्स, लेबर के काम करने की क्षमता एवं आपके marketing strategy पर निर्भर करता है| इन सब के हिसाब से आप का प्रॉफिट घट या बढ़ सकता है|

इस ब्लॉग में हमने कोशिश किया है इस बिजनेस से जुड़ी हुई सारी information देने की| फिर भी अगर आपको लगता है कि कुछ कमी है तो आप हमें अपना feedback, suggestion दे सकते हैं आपका suggestion एवं feedback हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इसकी वजह से ही अपने ब्लॉग में improvement करते है|

ब्लॉग पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments