Saturday, January 23, 2021
Home Blog तुलसी की खेती कैसे शुरू करें? How to Start Tulsi Farming Business...

तुलसी की खेती कैसे शुरू करें? How to Start Tulsi Farming Business Ideas in Hindi

How to Start Tulsi Farming तुलसी की खेती कैसे शुरू करें? 

हमारा भारत एक कृषि प्रधान देश है| यहां की 70% आबादी अपनी जीविका के लिए कृषि पर निर्भर है| स्वतंत्रता प्राप्ति के 5 दशकों के बाद भी भारतीय कृषकों की दशा में बहुत अधिक परिवर्तन देखने को नहीं मिला है| लेकिन किसान अगर पारंपरिक खेती जैसे धान, गेहूं की खेती छोड़कर अगर Tulsi Farming करें तो 1 साल में 1 एकड़ की खेती से ₹100000 का शुद्ध मुनाफा कमा सकते हैं|

जो लोग गांव को छोड़कर शहर को पलायन कर रहे हैं, वह लोग गांव में रहकर भी अगर Tulsi Farming करें तो अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं और अपने परिवार का पालन पोषण कर सकते हैं|

तुलसी की खेती का मार्केट में स्कोप (Scope of tulsi farming in market)

आज बहुत सारी कंपनियां मेडिसिनल पौधे की खेती किसानों से कॉन्ट्रैक्ट कर करवा रहे हैं| क्योंकि इन पौधों से बहुत सारी दवाइयां एवं कॉस्मेटिक प्रोडक्ट बनते हैं| जैसे पतंजलि, बैद्यनाथ, डाबर जैसी कंपनियां बहुत सारे किसान को अपने साथ जोड़ कर मेडिसिनल पौधे की खेती करवाती है| मेडिसिन पौधों में तुलसी, एलोवेरा, शतावरी बहुत सारे पौधे आते हैं|

तो आपके आसपास भी अगर कोई कंपनी इन मेडिसिनल पौधे की खेती करवाते हैं तो आप उनसे जुड़ कर तथा खेती कर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं| बशर्ते उस कंपनी के बारे में सही जानकारी इकट्ठा कर ले|

कंपनी के बारे में क्याक्या पता लगाना चाहिए?

किसी भी कंपनी से जुड़ने से पहले उस कंपनी के बारे में क्या क्या जानकारी होनी चाहिए-

=> कंपनी राज्य सरकार या केंद्र सरकार से रजिस्टर्ड है या नहीं?

=> अगर रजिस्टर्ड है तो रजिस्ट्रेशन नंबर देखना चाहिए| किसी भी कंपनी के रजिस्ट्रेशन नंबर से आप उस कंपनी के बारे में सारी इंफॉर्मेशन निकाल कर देख सकते हैं|

=> कंपनी कितने दिनों से यह काम कर रही है?

=> कंपनी बाय बैक एग्रीमेंट करती है या नहीं?

=> अपनी के साथ कितने किसान पहले से जुड़े हुए हैं?

=> कंपनी मिट्टी की जांच करवाती है या नहीं?

=> कंपनी अगर बाय बैक एग्रीमेंट करती है तो उसका कितना पैसे लेती है ?

=> कंपनी के साथ जो किसान जुड़े हुए हैं उनसे मिलकर सच्चाई का पता लगाएं|

=> जो किसान उनसे जुड़े हैं उन्हें कंपनी ने समय पर पैसा दिया है या नहीं इसका भी पता लगाएं|

=> अगर सारी जानकारी सही है तो भी कंपनी से जुड़ने से पहले कंपनी के रुल्स रेगुलेशंस एवं टर्म्स एंड कंडीशन को ध्यान से पढ़कर एग्रीमेंट साइन करें|

कंपनी से जुड़ने के पहले क्या ध्यान देना चाहिए?

दोस्तों आज मार्केट में बहुत सारी फ्रॉड कंपनी भी है जो किसान को गलत जानकारी देकर के उनसे पैसे ठग कर रातों-रात गायब हो जाते हैं| तो किसी भी कंपनी पर आंख मूंदकर विश्वास नहीं करें|

तुलसी की खेती शुरू करने के लिए कितना इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा? (Investment in tulsi farming)

तुलसी की खेती शुरू करने के लिए आपको करीब करीब ₹20000 से ₹25000 खर्च करना पड़ सकता है|

तुलसी की खेती करने के बाद कितना मुनाफा होगा? (Profit in tulsi farming)

तुलसी की खेती करने पर एक एकड़ में 1 साल में 125000 रुपए का मुनाफा होता है| जिनमें से ₹25000 जो हमने इन्वेस्ट किया था उसे अगर घटा दे तो ₹100000 की शुद्ध बचत होती है|

तुलसी की खेती करने पर पहला मुनाफा कब मिलता है? (When you get first income in tulsi farming)

तुलसी की खेती करने पर तुलसी के बीज यानी नर्सरी लगाने के बाद 45 दिन के बाद पौधे की रोपाई शुरू हो जाती है| उसके 3 महीने के बाद पहली कटाई शुरू होती है और कटाई होने के बाद कमाई शुरू हो जाती है|

तुलसी की खेती में 1 एकड़ में कितना पौधा लगाते हैं? (How much plant is planted in 1 acre of tulsi farming)

तुलसी की खेती में 1 एकड़ में 28000 से 30000 पौधे की रोपाई होती है|

तुलसी की फसल कितने दिनों में तैयार हो जाती हैं

तुलसी की रोपाई होने के बाद हर एक 3 महीने के बाद पौधों की कटाई होती है| मतलब 1 साल में चार बार तुलसी की कटाई होती है| इसकी फसल 1 साल तक चलती है|

तुलसी की खेती करने पर 1 एकड़ में एक कटाई में कितना माल निकलता है?

तुलसी की खेती में हर एक 3 महीने पर कटाई होती है और एक कटाई में एक एकड़ में लगभग 10 से 11 क्विंटल माल निकलता है|

तुलसी की खेती में 1 साल में कितना माल निकलता है?

तुलसी की खेती में 1 साल में 40 से 42 क्विंटल माल निकलता है|

तुलसी की खेती में किस भाग को बेचते हैं और यह कैसे किलो बिकता है?

तुलसी की खेती में जड़ को छोड़कर पत्ती सहित तना को काट कर सुखा लेते हैं| सूखने के बाद यह 28 से ₹30 किलो बिक जाता है|

तुलसी की खेती कैसे करते हैं?

तुलसी की खेती के लिए सबसे पहले इस की नर्सरी तैयार करते हैं| मतलब तुलसी के बीज से पौधा तैयार किया जाता है| बीज से पौधा तैयार होने में 45 दिन का समय लगता है| उसके बाद हम इसकी रोपाई करते हैं| इसमें लाइन से लाइन की दूरी डेढ़ फीट होनी चाहिए तथा पौधे से पौधे की दूरी 1 फीट होनी चाहिए|

तुलसी की खेती में पानी कितने दिनों पर देना पड़ता है?

तुलसी की खेती में पानी 20 से 22 दिनों के अंतराल पर देना अति आवश्यक है|

तुलसी की खेती में कोई बीमारी लगती है क्या?

आमतौर पर तुलसी की खेती में कोई बीमारी नहीं लगती है तुलसी की पत्तियां ज्यादा दिन होने पर हल्की पीली रंग की हो जाती है|

क्या कोई कंपनी इसकी खेती के लिए बाय बैक एग्रीमेंट करती है?

बहुत सारी कंपनी तुलसी की खेती के लिए बाय बैक एग्रीमेंट करती है| अगर आप किसी कंपनी के साथ बाय बैक एग्रीमेंट करते है तो कंपनी का सारा टर्म्स एंड कंडीशन अच्छी तरह से पढ़ ले| तुलसी का दाम थोड़ा बहुत ऊपर नीचे होता रहता है तो उस समय जो प्राइस चल रहा होगा उस प्राइस से कंपनी वाले तुलसी को खरीद लेते हैं|

तुलसी की खेती में ज्यादा कमाई कैसे हो सकती है?

तुलसी की खेती में पौधे की क्वालिटी और वैरायटी पर उसकी कमाई निर्भर करती है| अगर पौधे की क्वालिटी ज्यादा अच्छी होती है तो हमें ज्यादा प्राइस मिल सकती है|

तुलसी की खेती शुरू करने से पहले क्या मिट्टी की जांच करानी चाहिए? इसकी खेती के लिए पीएच की वैल्यू कितनी होनी चाहिए?

तुलसी की खेती शुरू करने से पहले मिट्टी की जांच जरूरी है| इसमें पीएच की वैल्यू 6. 5 से 8.5 के बीच होना चाहिए|

तुलसी की खेती में क्या बिकता है पत्तियां या पूरा पौधा?

तुलसी की खेती में ज्यादातर कंपनियां सिर्फ पत्तियां ही खरीदती है कंपनी जड़ के 4 इंच ऊपर से तना सहित पत्तियां लेती है| तो यह चीज़ें आपको कंपनी वालों से क्लियर करनी पड़ेगी|

तुलसी की खेती में गिली पत्तियां बिकती है यह सूखी पत्तियां बिकती है?

तुलसी की खेती में सूखी पत्तियां तने के साथ बिकती है| तुलसी को तना सहित काटने के बाद उसे 2 दिन तक सूखने के लिए छोड़ दिया जाता है| उसके बाद जब उसका moisture हट जाता है तो उसका वजन कर लिया जाता है| उसी वजन के हिसाब से कंपनी वाले तुलसी की कीमत देते हैं| इसके बाद उसे कंपनी वाले तुलसी को पैक करके ले जाते हैं|

 तुलसी की खेती में कंपनी वालों का क्या रोल होता है?

तुलसी की खेती में कंपनी वाले बीज बोने से पौधा रोपने तक का काम करते हैं| मतलब उनका एक टेक्निकल एडवाइजर होगा जो बीज बोने का काम करवाएगा| जब पौधा तैयार हो जाएगा तो उसकी रोपाई करवाएगा| इसके साथ-साथ हर महीने आपके खेत पर विजिट करेगा एवं फसलों की स्थिति पर नजर रखेगा| इतना ध्यान रखें तुलसी की खेती करने में मजदूर का इंतजाम आपको करना होगा एवं उसकी मजदूरी आपको देना होगा|

कंपनी जो ₹20000–₹25000 इन्वेस्ट करने को कहती है उसमें कंपनी क्या करती हैं?

तुलसी की खेती में ₹15000 कंपनी वाले लेते हैं| इसके बदले कंपनी निम्नलिखित सर्विसेज देती है-

=> कंपनी आपको तुलसी का बीज देगी|

=> एक टेक्निकल एडवाइजर देगी जो हर महीने आपकी खेत में विजिट करेंगे|

=> मिट्टी की जांच करेगी|

=> तुलसी की नर्सरी बनाने के लिए प्लास्टिक बैग देगी|

=> इसके साथ-साथ बाय बैक अग्रीमेंट भी होगा|

इसके अलावे जो ₹10000 लगते हैं उसमें खेत की जुताई, मजदूरी, गोबर का खाद, पानी पटाने का खर्च, एवं निकाई गुड़ाई का खर्च सम्मिलित होता है| 

तुलसी की खेती में 1 एकड़ में 1 साल में कितना मुनाफा होगा?

तुलसी की खेती में 1 साल में चार बार कटाई होती है जिससे हमें 40 क्विंटल सूखा माल मिलता है| मार्केट में तुलसी का रेट 28 से ₹30 प्रति किलो होता है| इस हिसाब से 40 क्विंटल का ₹120000 हमें मिलता है| इस पैसे में हम अपना इन्वेस्टमेंट 20 से ₹25000 घटा लेते हैं तो लगभग ₹90000 से ₹100000 का शुद्ध मुनाफा हम 1 साल में 1 एकड़ में कमा सकते हैं|

क्या तुलसी की खेती बिना कंपनी के बायबैक अग्रीमेंट के करना चाहिए?

दोस्तों हमारी सलाह तो यही है कि आप बिना बाय-बेक अग्रीमेंट के तुलसी की खेती ना शुरू करें| क्योंकि इसको बेचने में बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है| अगर आप किसी कंपनी जैसे पतंजलि, डाबर एवं बैद्यनाथ से सीधे संपर्क में हैं और वह कंपनी आपका माल खरीदने को तैयार हो, तभी आप इसकी खेती शुरू करें|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments